Notice: Undefined variable: logo_id in /home/xga5pj6fapm2/public_html/wp-content/themes/schema-lite/functions.php on line 754

महान व्यक्तियों के 45 अनमोल विचार हिंदी में।45 Great Ideas from Great People

महान व्यक्तियों  के 45 अनमोल विचार हिंदी में।45 Great Ideas from Great People 

इस आर्टिकल के माध्यम से हम आपको महान व्यक्तियों के 45  अनमोल विचार  45 Great Ideas from Great People के बारे में बता रहे हैं जो आपके जीवन में परिवर्तन लायेंगे और इसके साथ साथ ही आगे बढ़ने की प्रेरणा भी देंगे।
में आशा करता हूँ कि महान व्यक्तियों के अनमोल विचारों को पढ़ कर निश्चित ही आपके जीवन में नई ऊर्जा का संचार होगा।


1. कुछ हद तक शारीरिक सदभाव और आराम आवश्यक है, लेकिन एक निश्चित स्तर से ऊपर यह एक मदद की  बजाय एक बाधा बन जाता है-           महात्मा गांधी


2. पराजय से सत्याग्रही को निराशा नहीं होती, बल्कि कार्य क्षमता और लगन बढती है।    –              महात्मा गांधी


3.जब तक हम जिस दिशा में जा रहे हैं, हम उस दिशा को बदल देते हैं, तो हम समाप्त हो सकते हैं।                       चीनी कहावत


4. आपको कुव्यसानों की कीमत दो बार चुकानी पड़ती है, एक बार जब आप उनके प्रभाव में आते हैं तथा जब वह आपको प्रभावित करती है।                  -अज्ञात

अनमोल वचन हिंदी में


5. पृथ्वी हर आदमी की जरूरतों को पूरा करने के लिए पर्याप्त प्रदान करती है, लेकिन हर आदमी के लालच को नहीं।  – महात्मा गांधी


6. नमस्कार करने वाला व्यक्ति विनम्रता को ग्रहण करता है और समाज में सभी के प्रेम का पात्र बन जाता है।            -प्रेमचन्द्र


7. हम दुनियां के जंगल के लिए क्या कर रहे हैं, लेकिन हम अपने स्वयं के लिए और एक दूसरे के लिए क्या कर रहे हैं, का दर्पण प्रतिबिम्ब है।       -महात्मा गांधी जी


8. जिस व्यक्ति में आत्मविश्वास नहीं है ,वह शक्तिमान होकर भी कायर है, और पंडित होकर भी मूर्ख है।              – रामप्रताप


9.जब भी आप अपने आपको पक्ष बहुमत पर पाते हैं तो यह समय को थामने और प्रतिबिंबित करने का है।            -मार्क ट्वेन


10. यदि तुम्हारी कोई निंदा करे तो भीतर ही भीतर प्रसन्न हो क्योंकि तुम्हारी निंदा करके वह तुम्हारे पाप अपने ऊपर ले लेता है।                               -वृह्मानंद


11. हम भूमि का दुरुपयोग करते हैं क्योंकि हम इसे एक वस्तु से संबंधित मानते हैं।  जब हम भूमि को देखते हैं, तो हम एक वस्तु है, जिसे हम प्यार और सम्मान के साथ उपयोग करना शुरू कर सकते हैं।        -एल्डो लियोपोल्ड


12. अपनी वाणी को जितना हो सके निर्मल और पवित्र रखें, क्योंकि संभव है कि कल आपको उन्हें वापिस लेना पड़ सकता है।     -सुभाषित

प्रेरक विचार हिंदी में


13. अपने पेड़ों पर लौटने के लिए मैं अक्सर उनके बीच जाता था, उनकी चड्डी के खिलाफ मेरे हाथ के स्पर्श से उनकी उपस्थिति को स्वीकार करता था।        रस्किन बांड


14. जिस प्रकार रात्री  का अंधकार सूर्य दूर कर सकता है, उसी प्रकार मनुष्य की विपत्ति को केवल ज्ञान दूर कर सकता है।   -नार्दभक्ति


15. परिवर्तन के समय में, यह सीखने वाले व्यक्ति हैं, जिन्हें भविष्य विरासत में मिला है, सीखा हुआ व्यक्ति खुद को केवल एक ऐसी दुनियां में रहने के लिए सुसज्जित पाता है जो अब मौजूद नहीं है।           -एरिक होफेर


16.जिस काम की तुम कल्पना  करते हो, उस काम में तुम जुट  जाओ साहस में प्रतिभा, शक्ती और जादू है। साहस से काम शुरू करो पूरा अवश्य होगा।       -सुभाषित


17 . ब्रह्मांड की सभी चीजों मे एक भाषा है, यह वह नहीं है जो यह बोलना सीखना चाहिए कि यह हम हैं।          अज्ञात


18.धर्म करते हुए मर जाना अच्छा है पर पाप करते हुए कमजोरों पर विजय प्राप्त करना अच्छा नहीं, वह धर्म नहीं अधर्म है।                       -अज्ञात


19. हर बार जब आप प्रकृति में कुछ प्रशंसा करते हैं, तो यह निर्माता के लिए एक प्रार्थना है।                       – वेर्नोन हार्पर


20. चंद्रमा अपना प्रकाश सम्पूर्ण आकाश में फैलाता है, परन्तु अपना कलंक अपने पास ही रखता है।            -रविंन्द्र नाथ टैगोर


21.अपने लक्ष्य को प्राप्त करना प्रत्येक व्यक्ति का नैतिक कर्तव्य और अधिकार है लेकिन इसके लिए साधनों की पवित्रता परमावश्यक है। हम हिंसा को किसी भी रूप में पवित्र साधन के तौर पर नहीं अपना सकते।       -महात्मा गांधी

महान विचार हिंदी में


22.क्या में अपने देश ही में गुलामी करने के लिए जिंदा रहूं?ऐसी जिंदगी से मर जाना अच्छा है। इससे अच्छी मौत मुमकिन नहीं।         -मुंशी प्रेमचंद


23. वह शरीर ही क्या जिससे जग का, कोई उपकार न  हो।वृथा जन्म उस नर का जिसके, मन में दया विचार न हो।।       -आर सी प्रसाद सिंह


24. अपने विगत जीवन पर दृष्टि डालते हुए मुझे सोचना पड़ता है कि खेल कूद के प्रति लापरवाही नहीं दिखानी चाहिए थी। ऐसा करके मैंने शायद असमय प्रौढता की भावना विकसित कर ली।     -सुभाष चंद्र बोस


25. विज्ञान सामाजिक परिवर्तन का एक महान उपकरण है- आधुनिक सभ्यता के विकास में सहयोगी सभी क्रांतियों में  सबसे अधिक शक्ति शाली है।      -आर्थर बाल्फोर


26. वास्तव में विज्ञान ने जितनी समस्याएं हल कीं हैं। उतनी ही नयी समस्याएं खड़ी भी कर दीं हैं।                  -श्रीमती इंदिरा गांधी


27. यदि भारत का प्रत्येक शिक्षित व्यक्ति एक अनपढ़ को साक्षर करने का निश्चय कर ले तो भारत में निरक्षरता बहुत ही जल्दी समाप्त हो जाएगी।               -महात्मा गांधी जी


28. श्री राम चरित मानस विचार रत्नों का भंडार है। मानस का प्रत्येक पृष्ठ भक्ती  से भरपूर है, मानस अनुभवजन्य ज्ञान का भंडार है ।               -महात्मा गांधी जी


29. जो साहित्य मनुष्य को उसकी समस्त आशा-आकांक्षाओं के साथ, उसकी सभी सफलताओं और दुर्बलताओं के साथ हमारे सामने प्रत्यक्ष ले आकर खड़ा कर देता है, वही महान साहित्य है।       –  डॉ हजारी प्रसाद द्विवेदी


30. हमारे देश की कविता में प्रकृति प्रेम का जो परिचय मिलता है, वह उसे अन्य देशों की कविताओं से अलग करता है, उसे विशिष्टता प्रदान करता है। यह प्रकृति पर प्रभुत्व नहीं, प्रकृति का उपभोग नहीं, प्रकृति के साथ मिलन है।             – रविंन्द्र नाथ टैगोर


31. ईश्वर उनकी सहायता करता है, जो अपनी सहायता स्वयं करते हैं।                 – युक्तियां

32.  आवश्यकता के समय पर काम आने वाला ही सच्चा मित्र होता है।                   – युक्तियाँ

सत्य वचन हिंदी में


33. जिसका स्वयं पर नियंत्रण नहीं, वह स्वतंत्र नहीं है।       – युक्तियां


34. शिक्षक उस मोमबत्ती की भांति होता है, जो स्वयं जलकर दूसरों को प्रकाश  देता है।       -युक्तियाँ


35. सभी प्रकार की शिक्षा का उद्देश्य चरित्र-निर्माण होना चाहिए।           – युक्तियाँ


36. अध्ययन से ज्ञान, प्रसन्नता तथा योग्यता प्राप्त होती है।       – युक्तियाँ


37. अपने विचारों को कार्य- रूप में परिणित करना संसार का सर्वाधिक कठिन कार्य है।          – युक्तियाँ


38. काम के समय काम करो, खेलने के समय खेलो, प्रसन्न रहने का यही उत्तम नियम है।    – युक्तियाँ


39 . ज्ञान के समान इस संसार में  और कुछ पवित्र नहीं।       -युक्तियाँ


40.  जननी और जन्म भूमि, स्वर्ग से भी बढ़कर होतीं हैं।       -उक्तियाँ


41. संसार में सुंदरता तो सरलता से मिल जाती है, किन्तु  गुण ग्रहण करना कठिन है।        – युक्तियाँ


42.  शीघ्र सोना तथा शीघ्र उठना मनुष्य को स्वस्थ धनी और बुद्धि मान बनाता है।     –   युक्तियाँ


43. कार्य परिश्रम करने से पूर्ण होता है, मनोरथ करने से नहीं।    – युक्तियाँ


44. जीत उनकी ही होती है जो लगातार प्रयास करते रहते हैं।      -अज्ञात


45. समाधान न ढूढ़ पाना खुद में एक सबसे बड़ी समस्या है।       –   अज्ञात

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *